टूर एंड ट्रैवेल एजेंसी का बिजनेस कैसे करें | Tour and Travels agency ka Business Kaise Kare

दोस्तों आइये जानते है की Tour and Travels agency ka Business Kaise Kare या कहे Travel agency ka business kaise shuru kare(travel business idea in hindi). वैसे तो आपको इस लेख में टूर एंड ट्रैवल्स एजेंसी के बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी, तो इस लेख को आखिर तक पढ़ें.

आप सभी को घूमना तो पसंद ही होगा और आप भारत के साथ-साथ विदेशों में भी घूमना चाहते होंगे उसी तरह विश्व से लाखों करोड़ों लोग हर वर्ष भारत में घुमने आते हैं, इसलिए Travel Agency कहा जाने वाला व्यापार शुरू करना काफी फायदेमंद हो सकता है, ताकि आप उनकी घूमने में मदद करें (hotel, taxi, VISA, etc.) और अपनी कमीशन के रूप में मोटा पैसा छाप सकें.

टूर एंड ट्रैवेल्स या कहें टूरिज्म इंडस्ट्री भारत में एक बहुत बड़ी इंडस्ट्री है जो भारत में कुल रोजगार का लगभग 8% रोजगार पैदा करती है.

यात्रा करना हर किसी इंसान के जीवन का प्रमुख हिस्सा बन गया है, यही कारण है की भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में आज टूर एंड टूरिज्म इंडस्ट्री बहुत ऊंचाई पर पहुँच चुकी है.

आज लोग सिर्फ छुट्टियों में ही नहीं घूमते है, बल्कि अनेक कारणों के चलते भी यात्रा करते है. तो ऐसे में किसी के लिए भी अपनी खुद की ट्रैवल एजेंसी खोलना बहुत फायदेमंद हो सकता है, तो इस विषय में ज़रूर सोचें.

यदि आप भी ट्रेवल प्लान करना अच्छी तरह से जानते हैं और यह करने में आपको मज़ा आता है या फिर जिस किसी के लिए आपने ट्रेवल प्लान किया हो और वे आपकी तारीफ़ करते हैं. तो फिर आपको बिना सोचे खुद का Tour and Travels Agency ka Business शुरू करने के बारे में विचार करना चाहिए.

Tour and Travels ka business kaise kare जानने से पहले ये जानना बहुत जरुरी है की आखिर Toursim Business क्या है या कहे टूर एंड ट्रैवल्स एजेंसी क्या है.

विषयसूची

टूर एंड ट्रैवल्स एजेंसी क्या है(Tour and Travels Agency kya hai)

एक टूर एंड ट्रैवल एजेंसी एक निजी रिटेलर या सार्वजनिक सेवा होती है जो आम जनता को आवास (hotel) या यात्रा (taxi/VISA) प्रदाताओं की ओर से यात्रा और पर्यटन से संबंधित सेवाएं प्रदान करती है, विभिन्न स्थानों के लिए विभिन्न प्रकार के यात्रा पैकेज प्रदान करती है.

आसान शब्दों में, ट्रैवल एजेंसी वह होती है जहां लोगों को विभिन्न पर्यटन स्थलों पर जाने के लिए सेवाएं(Hotel, taxi, VISA आदि) प्रदान की जाती हैं, जिसे पर्यटन सेवा(tourism service) भी कहा जा सकता है.

टूर एंड ट्रैवल्स एजेंसी का बिज़नेस क्या है (Tour and Travels agency ka business kya hai)

ट्रैवल एजेंसी के व्यवसाय में यह है कि जब कोई पर्यटन के लिए कहीं जाना चाहता है, तो आप उन्हें पर्यटन सेवा प्रदान करते हैं(hotel booking, taxi, VISA, forex, activities, sightseeing, etc.) और बदले में आप उनसे शुल्क लेते हैं, जिससे आप लाखों कमा सकते हैं.

ट्रेवल एजेंसी का महत्व(Travel Agency ki Importance)

हमारे देश में टूर एंड ट्रैवल्स का बहुत बड़ा उद्योग है, जहां लाखों लोग काम करते हैं. और जैसे हमारा देश विकास के क्षेत्र में आगे बढ़ रहा है, उसी तरह पर्यटन क्षेत्र भी विकसित हो रहा है.

हर साल यहां लाखों की संख्या में लोग घूमने आते है और यहाँ से दूसरे देशों में घूमने जाते रहते हैं. ऐसे में हर साल इस बिजनेस की मांग बढ़ती जा रही है. और कहा जा रहा है कि आने वाले समय में ट्रैवल एजेंसियों की डिमांड बहुत ज्यादा होगी.

गर्मी और सर्दी की छुट्टियों में tour and travels ke business की डिमांड काफी बढ़ जाती है, ऐसे में ज्यादातर लोग ट्रैवल करने का प्लान करते हैं.

टूर एंड ट्रैवल्स एजेंसी के कार्य और सेवाएं(Tour and Travels agency ki services)

ट्रैवल एजेंसी के कार्य को समझना आपके लिए बहुत ज़रूरी है ताकि आप जब अपनी ट्रैवल एजेंसी खोलें तो आपको पता हो की आपको क्या-क्या करना होगा.

ट्रैवल एजेंसी के कार्यों में से कुछ कार्य है जैसे की, मनोरंजक गतिविधियों को प्लान करना, एयरलाइन टिकट, कार किराए पर देना, टैक्सी बुक करना, क्रूज़ बुकिंग, होटल बुक करना, रेलवे टिकट, यात्रा बीमा, टूर पैकेज, VISA अप्लाई करना, गाइड बुक करना, VIP एयरपोर्ट लाउंज में एक्सेस, यात्रियों के अनुरोध पर सामान और चिकित्सा वस्तुओं की डिलीवरी प्रदान करना आदि.

एक ट्रैवल एजेंसी का मुख्य कार्य एक एजेंट के रूप में कार्य करना है, यानी एक प्रदायक की ओर से यात्रा उत्पादों और सेवाओं की बिक्री करना.

ट्रैवल एजेंसी के प्रकार(Travel Agency ke types)

ट्रैवल एजेंसी को मूल रूप से दो प्रकार में विभाजित किया गया है:

  • रिटेल ट्रैवल एजेंसी
  • होलसेल ट्रैवल एजेंसी

रिटेल ट्रैवल एजेंसी(Retail travel agency kya hoti hai)

एक रिटेल ट्रैवल एजेंसी उत्पादों के आपूर्तिकर्ताओं की ओर से पर्यटकों के उत्पादों को सीधे जनता को बेचती है और बदले में कमीशन प्राप्त करती है. कुछ टूर पैकेज दो तरह से बेचे जाते हैं, यानी कमीशन के आधार पर और कीमत पर मार्कअप लगा कर.

जब कोई ट्रैवल एजेंसी किसी टूर को मार्कअप मूल्य लगाकर बेचती है तो इसका मतलब है कि पहले वह टूर की लागत पर मार्कअप लगाती है और फिर उसे उच्च दर पर बेचती है.(मार्कअप मूल्य, रिटेल मूल्य और थोक लागत के बीच का अंतर होता है)

होलसेल(थोक) ट्रैवल एजेंसी(Wholesale travel agency kya hoti hai)

होलसेल(थोक) ट्रैवल एजेंसी को टूर पैकेज आयोजित करने में विशेषज्ञता प्राप्त होती है, जो रिटेल ट्रैवल एजेंसी के नेटवर्क के माध्यम से या सीधे संभावित ग्राहकों के माध्यम से ग्राहकों/पर्यटकों को बेचा जाता है(यदि थोक ट्रैवल एजेंसी का रिटेल डिवीजन है). एक थोक ट्रैवल एजेंसी पर्यटक उत्पादों को थोक में खरीदती है और टूर पैकेज तैयार करती है.

होलसेल(थोक) ट्रैवल एजेंसियां हॉलिडे पैकेज इकट्ठा करती हैं और उन्हें रिटेल ट्रैवल एजेंसियों के माध्यम से ग्राहकों को बेचती हैं. एक प्ररूपी टूर पैकेज में – हवाई टिकट, रहना(hotel) और अन्य सेवाएं भी इसमें शामिल हो सकती हैं जैसे मनोरंजन, दर्शनीय स्थल(tourist places) और खेलकूद गतिविधियां आदि शामिल होती हैं.

टूर एंड ट्रैवल्स एजेंसी का बिज़नेस कैसे करे(Tour and Travels agency ka Business Kaise Kare)

एक ट्रैवल एजेंसी व्यवसाय शुरू करने के लिए आपको निम्नलिखित चरणों का चरण दर चरण पालन करना होगा:

Tour and Travels agency ka Business Kaise Shuru Kare
  • अपनी Travel Agency के लिए business plan तैयार करें
  • अपनी Travel Agency के लिए जगह और उपकरणों का इंतज़ाम करें
  • अपनी Travel Agency/company को रजिस्टर करें
  • अपनी Travel Agency के नाम से बैंक में खाता खुलवाएं
  • अपनी Travel Agency Business में इन्वेस्टमेंट का प्रबंधन करें
  • अपनी Travel Agency को दूसरी Travel Companies से टाई-उप करें
  • नामी Travel Agency की फ्रैंचाइज़ी ले सकते हो
  • अपनी Travel Agency को सरकार से स्वीकृत करवाएं और IATA सदस्यता प्राप्त करने का प्रयास करें
  • Travel Agency के काम को समझिए और सीखिए
  • अपनी Travel Agency की सेवाओं की मार्केटिंग करें और उसे बेचो

अपनी Travel Agency के लिए business plan तैयार करें

बिज़नेस प्लान के बिना कोई भी बिज़नेस सफल नहीं होता, बिज़नेस प्लान के बिना बिज़नेस करना यानि किसी लक्ष्य के बिना कहीं घूमने जाना.

एक बिज़नेस को सफल और लम्बे समय तक चलाने के लिए एक बिज़नेस प्लान बहुत ज़रूरी है. इसलिए आपको एक प्रभावी बिज़नेस प्लान बनाना पड़ेगा जिससे आपके बिज़नेस का मूल्यांकन बहुत तगड़ा हो.

अपनी Travel Agency के लिए जगह और उपकरणों का इंतज़ाम करें

आप अगर इस बिज़नेस को मेन बिज़नेस बनाना चाहते है तो आपको एक ऑफिस की ज़रुरत होगी जो की कम से कम 250sq.ft का हो और कोशिश करना आपका ऑफिस ग्राउंड फ्लोर पर हो तो ज्यादा फायदेमंद होगा और यदि आप अगर इस बिज़नेस को side business रखना चाहते है तो आप यह बिज़नेस घर से भी शुरू कर सकते है.

Travel Agency business में बहुत कम उपकरणों में की काम हो जाता है, लगने वाले उपरकरणों में कंप्यूटर या लैपटॉप, प्रिंटर, A4 साइज़ पेपर, इंटरनेट, टेबल, कुर्सी, सोफा, आदि शामिल है.

शुरुआत में तो आप अकेले भी यह बिज़नस कर सकते है, जैसे-जैसे आपका बिज़नेस ऊचाइयां छुएगा तो आपको ज़रुरत के हिसाब से स्टाफ बढ़ाना होगा.

अपनी Travel Agency/company को रजिस्टर करें

एक ट्रैवल एजेंसी शुरू करने से पहले पंजीकृत कराना बहुत ज़रूरी है, भारत में आमतौर पर ट्रैवल एजेंसी को प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में पंजीकृत कराते है. यदि आप चाहे तो आप OPC या LLP में भी पंजीकृत करा सकते हैं.

आप जान सकते है की नयी कंपनी कैसे शुरू करें, इससे आपको अपनी ट्रैवल एजेंसी को रजिस्टर करने में काफी फायदा होगा.

अपनी Travel Agency के नाम से बैंक में खाता खुलवाएं

अब तक आपने अपनी कंपनी को रजिस्टर करा लिया है, अब आपको अपनी ट्रैवल एजेंसी के नाम से एक बैंक में चालू खाता खुलवाना है ताकि आप अपने ग्राहकों से उसी बैंक अकाउंट में पैसे जमा करवा पाएं और उसी खाते से उनकी बुकिंग्स कर पाएं.

अपनी Travel Agency Business में इन्वेस्टमेंट का प्रबंधन करें

आपको कोई सा भी बिज़नेस चालू करना है तो उसके लिए इन्वेस्टमेंट तो लगता ही है, आपको इस बिज़नस में भी इन्वेस्टमेंट करना पड़ेगा. Investment की बात करें तो आपको करीबन 7-8 लाख रूपए लग सकते है, वो आप पर निर्भर करता है आप कहाँ से आपकी ट्रैवल एजेंसी खोलना चाह रहे है (उसका किराया) और आप कैसे उपकरण इस्तेमाल में लाते हैं.

यदि आप घर से ही अपनी ट्रैवल एजेंसी खोलना चाहते है तो आपको बहुत कम इन्वेस्टमेंट करीबन 40-50 हज़ार रूपय करना होगा.

अपनी Travel Agency को दूसरी Travel Companies से टाई-उप करें

आप चाहे तो दूसरी नामी ट्रैवल कंपनियों से भी टाई-उप कर सकते है, उनके प्रोडक्ट्स जान सकते है और उनसे उनके प्रोडक्ट्स बेचने की कमीशन के बारे में जान सकते हैं.

इससे भी आप काफी पैसे कमा सकते है.

नामी Travel Agency की फ्रैंचाइज़ी ले सकते हो

आजकल भारत में कई ऐसी ट्रैवल कंपनियां हैं जो अपनी फ्रेंचाइजी भी देती हैं, अगर आप ट्रैवल एजेंसी का बिज़नेस शुरू करना चाहते हैं तो आप किसी अच्छी और लोकप्रिय कंपनी की फ्रेंचाइजी भी ले सकते हैं, यह आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है.

फ्रेंचाइजी लेना फायदेमंद हो सकता है क्योंकि इस उद्योग में उस कंपनी का नाम पहले से ही जाना जाता है. ऐसे में अगर आप इस कंपनी से जुड़ते हैं तो आपको अपने बिज़नेस की मार्केटिंग करने के लिए ज्यादा जरूरत नहीं पड़ेगी.

अपनी Travel Agency को सरकार से स्वीकृत करवाएं और IATA सदस्यता प्राप्त करने का प्रयास करें

Govt. approved या कहे सरकार से स्वीकृत ट्रैवल एजेंसी होना अभी भारत में ज़रूरी नहीं है लेकिन अगर आपकी एजेंसी Govt. approved होगी तो ग्राहक के प्रति आपका भरोसा और मजबूत बन जायेगा, क्यूंकि सरकार उन्ही ट्रैवल एजेंसी को स्वीकृत करती है जब वो एजेंसी सरकार द्वारा निर्धारित मानकों के आधार पर खरी उतरेगी.

इसके अलावा आप चाहे तो IATA(International Air Transport Association) की भी सदस्यता प्राप्त करने हेतु आप आवेदन दे सकते है, इससे आपको अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त हो जाएगी.

Travel Agency के काम को समझिए और सीखिए

आपको यह बिज़नेस करने के लिए इस क्षेत्र में कौन-कौन से कार्य किये जाते है जानना पड़ेगा और उनको सीखना भी पड़ेगा. आपको वेसे तो ऊपर हमने बता ही दिया है की ट्रैवल एजेंसी के कार्य क्या होते है, आपको फिर बता देते है: hotel booking, taxi, VISA, forex, activities, sightseeing, etc. यह काम एक ट्रैवल अह=गेंच्य के काम होते है.

अपनी Travel Agency की सेवाओं की मार्केटिंग करें

ट्रैवल एजेंसी बिजनेस एक ऐसा बिजनेस है जिसके बारे में अगर लोगों को पता न चले तो आपके बिज़नेस को कोई भी नही जान पायेगा और फिर लोग आप तक कैसे पहुंचेंगे. ऐसे में आप बड़ी से बड़ी योजना भी क्यों न निकाल लें, जब तक आप लोगों को अपने बिज़नेस के प्रति जागरूक नहीं करेंगे, तब तक आप कोई पैसा नहीं कमा सकते हैं.

इसके लिए आपको अपने बिज़नेस की मार्केटिंग करनी होगी, और अपने बिज़नेस की जानकारी लोगों तक पहुंचाएं. इसके लिए आप अखबार, सोशल मीडिया(instagram, facebook etc.) और इसी तरह के अन्य माध्यमों का इस्तेमाल कर सकते हैं.

इस तरह आप ट्रैवल एजेंसी का बिजनेस करके काफी अच्छी कमाई कर सकते हैं, और इस बिजनेस की डिमांड ज्यादा होने की वजह से इसके आगे बढ़ने की संभावनाएं ज्यादा हैं, आगे जाकर आपको और भी बड़े फायदे दिलाने में मददगार हो सकता है.

टूर एंड ट्रैवल्स एजेंसी बिज़नेस की मांग(Tour and Travels agency business ki demand)

हमारे देश में पर्यटन का बहुत बड़ा उद्योग है, जहां लाखों लोग काम करते हैं. और जैसे-जैसे हमारे देश में विकास होता ही जा रहा है, वैसे ही पर्यटन और यात्रा का क्षेत्र भी आगे बढ़ रहा है.

हर साल लाखों लोग यहां-वहां यात्रा करते रहते हैं. ऐसे में हर साल इस बिजनेस की मांग बढ़ जाती है. और कहा जा रहा है कि आने वाले समय में ट्रैवल एजेंसियों की डिमांड बहुत ज्यादा होगी.

इस व्यवसाय की मांग गर्मी और सर्दियों की छुट्टियों के दौरान बहुत बढ़ जाती है जब ज्यादातर लोग यात्रा करने की योजना बनाते हैं.

ट्रेवल एजेंसी बिज़नेस का भारत में स्कोप(Travel agency ka India me scope)

संयुक्त राष्ट्र द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार आपको बता दें कि विश्व पर्यटन संगठन द्वारा एक रिपोर्ट जारी की गई थी, जिसके अनुसार भारत में काम करने वाले कम से कम 7-8 फीसदी लोगों के पास पर्यटन क्षेत्र में रोजगार है. और आने वाले समय में यह और भी बढ़ सकता है, यह लगभग 8% तक बढ़ सकता है.

क्योंकि अब मोदी सरकार ने टूरिज्म को अपने देश में हब बनाने का सोचा है. और बात करें जीडीपी के योगदान की, तो उस हिसाब से कुल 184 देशों में भारत टूर एंड ट्रैवल इंडस्ट्री में 12वें स्थान पर है. इसलिए, व्यापार में नए उद्यमियों के लिए ट्रैवल एजेंसी एक बड़ी गुंजाइश है.

निष्कर्ष(Conclusion)

दोस्तों इस लेख में हमने जाना की Tour and Travels agency ka Business Kaise Kare या कहे Travel agency ka business kaise shuru kare(travel business idea in hindi), टूर एंड ट्रैवल्स एजेंसी क्या है(Tour and Travels Agency kya hai), टूर एंड ट्रैवल्स एजेंसी का बिज़नस क्या है (Tour and Travels agency ka business kya hai), ट्रेवल एजेंसी का महत्व(Travel Agency ki Importance), टूर एंड ट्रैवल्स एजेंसी के कार्य और सेवाएं(Tour and Travels agency ki services), ट्रैवल एजेंसी के प्रकार(Travel Agency ke types), टूर एंड ट्रैवल्स एजेंसी बिज़नस की मांग(Tour and Travels agency business ki demand), ट्रेवल एजेंसी बिज़नेस का भारत में स्कोप(Travel agency ka India me scope).

दोस्तों आशा करता हूँ आपको मेरा ये लेख बहुत पसंद आया होगा, इसे अपने बिज़नेसमैन दोस्तों को जरूर शेयर करें और कोई भी सवाल है तो निचे कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखिए.

FAQ: Travel Agency के बिज़नेस से सम्बंधित लोग यह भी पूछते है-

ट्रैवल एजेंसी और टूर ऑपरेटर में क्या अंतर है ?

ट्रैवल एजेंसी यानि जिसके पास से ग्राहक टूर पैकेज खरीदते है और टूर ऑपरेटर वो होता है जो आपके टूर की जिम्मेदारी उठाता है.

घर से टूर एंड ट्रैवल्स का बिज़नस कैसे करें ?

आप घर से भी टूर एंड ट्रैवल्स का बिज़नेस कर सकते हैं, बस आपको ऑफिस की बजाये घर से ही सारी व्यवस्था करना पड़ेगी. घर पर ही पूरा सेटअप करना होगा, इसमें आपका इन्वेस्टमेंट बहुत कम लगेगा ऑफिस की तुलना में.

अन्य पढ़ें:

नई कंपनी कैसे शुरू करें

Resource: travel agency

Share to your loved ones
Kaise Kya Kare(Team)
Kaise Kya Kare(Team)

Kaise kya kare(Team) एक लेखको का समूह है जो आपके लिए रोचक लेख लिखते आये है और आगे भी लिखेंगे.

Articles: 24

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *